सेल्फ चेक क्या होता है? सेल्फ चेक कैसे भरे?

दोस्तों क्या आपने कभी सेल्फ चेक बनाया है, या अपने कभी सेल्फ चेक के बारे में जाना है, क्या आप भी जानना चाहते है कि सेल्फ चेक कैसे बनते है और सेल्फ चेक क्या होता है तो दोस्तों कहीं मत जाओ, आपको सेल्फ चेक से संबंधित पूरी जानकारी हमारे इस आर्टिकल में मिलेगी। सेल्फ चेक की जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल जरूर पढ़े।

चेक क्या होता है? चेक कितने प्रकार के होते है?

सेल्फ चेक क्या होता है?

सेल्फ चेक एक चेक होता है, जिसे खाताधारक द्वारा स्वयं के लिए बनाया जाता है। अर्थात एक ऐसा चेक जिसे भुनवाने के लिए खताधारक को खुद ही बैंक जाना होता है। कोई और व्यक्ति इस चेक को नहीं भुनवा सकता है केवल खाताधारक ही इस चेक को भुनवा सकता है।

यदि आप चाहते है कोई अन्य व्यक्ति बैंक जाके  चेक को भुंवाये तो इसके लिए आपको चेक पर उस व्यक्ति का नाम लिखना होगा तथा चेक के पीछे हस्ताक्षर करना होगा। तभी वह व्यक्ति चेक को बैंक ले जा सकता है और भुनवा सकता है।

आसान शब्दों में कहें तो सेल्फ का मतलब होता है खुद यानि कि स्वयं अर्थात खुद के लिए जो चेक काटा जाता है इसे सेल्फ चेक कहा जाता है और सेल्फ चेक को भुनवाने के लिए आपको खुद ही बैंक जाना होता है।

सेल्फ चेक कैसे भरे?

सेल्फ चेक बनाने के लिए आपको चेक बुक से एक चेक लेना होता है तथा चेक पर तारीख लिखनी होती है और चेक में पेयी की जगह आपको सेल्फ लिखना होता है तथा अमाउंट को शब्दों और अंको दोने में भरना होता है और फिर हस्ताक्षर करना है। इस चेक में चेक के पीछे हस्ताक्षर करना अनिवार्य नहीं होता है।

आपका सेल्फ चेक तैयार है अब आप बैंक जाकर इसको भुनवा सकते है, और बैंक से कैश प्राप्त कर सकते है। इस चेक को केवल आप भी भुनवा (redeem ) सकते है।

सेल्फ चेक क्यों बनाया जाता है?

दोस्तों सेल्फ शब्द से आपको पता तो चल ही गया होगा अपने लिए काटे जाना वाला चेक, अब मन में सवाल आता है कि यह चेक क्यों काटा जाता है। दोस्तों आप अपने लिए पैसे एटीएम से भी निकाल सकते है लेकिन इसमें लिमिट होती है की आप इतने ही पैसे निकाल सकते है,

लेकिन सेल्फ चेक के द्वारा आप अधिक पैसे बैंक से एक बार में निकाल सकते है इसलिए सेल्फ चेक कटा जाता है। यदि आपको अधिक पैसे चाहिए तो आप सेल्फ चेक द्वारा बैंक से पैसे प्राप्त कर सकते है और चेक लेके आपको खुद ही बैंक जाना होगा।

सेल्फ चेक के लाभ क्या है?

अधिक नकद निकासी – सेल्फ चेक के द्वारा आप अपने अकाउंट से एक बार में ही अधिक से अधिक पैसे निकाल सकते है इसकी कोई सीमा नहीं होती है जबकि एटीएम से पैसे निकालने की एक सीमा होती है। इसके अतिरिक्त आपको इसके लिए कोई शुल्क भी देना नही पड़ता है जबकि एटीएम से बार बार पैसे निकालने पर आपके अकाउंट से कुछ पैसे कटते है।

सुरक्षित – सेल्फ चेक एक सुरक्षित चेक है जिसके द्वारा आप सुरक्षा पूर्ण रूप से बैंक द्वारा कैश प्राप्त करते है और यह एक अच्छा तरीका होता है क्यूंकि पैसे लेने आपको खुद बैंक जाना होता है।

कोई फ्रॉड नहीं – सेल्फ चेक के द्वारा आपके साथ कोई फ्रॉड नहीं हो सकता है क्यूंकि चेक को क्लियर करवाने आपको खुद ही जाना होता है। जिससे कोई धोखे का डर नहीं होता है।

सेल्फ चेक के नुकसान क्या होते है?

अधिक समय – सेल्फ चेक में आपको अधिक समय लगता है क्यूंकि सेल्फ चेक में आपको स्वयं ही बैंक जाना होता है जिससे आपको अपने  चेक को क्लियर करवाने के लिए समय अधिक देना होता है।

अधिक खर्चा – आप सेल्फ चेक द्वारा अधिक पैसे बैंक से निकाल सकते है जिससे की आप मन चाहा खर्च करते है जोकी अधिक खर्च हो जाता है।

दोस्तों उम्मीद है आपको सेल्फ चेक से संबंधित सभी सवालो के जवाब हमारे इस आर्टिकल में मिल गए होंगे।

यह भी पढ़े

Cancelled Cheque क्या होता है? कैंसिल चेक कैसे बनाया जाता है?

क्रॉस्ड चेक क्या होता है? क्रॉस्ड चेक कैसे बनता है?

ओपन चेक क्या होता है? ओपन चेक कैसे बनता है?

आर्डर चेक क्या होता है? आर्डर चेक कैसे बनता है?

चेक बाउंस के नए नियम क्या होते है?

बेयरर चेक क्या होता है? बेयरर चेक कैसे भरे?

पोस्ट डेटेड चेक क्या होता है? पोस्ट डेटेड चेक कैसे बनता है?

साधारण मूल्य उच्च, मूल्य और उपहार चेक क्या होते है?

Authored By Prabha Sharma
Hello, My name is Prabha Sharma and I am the author of BankMadad.com. I graduated from Delhi University and I love writing about banking and finance.
हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े

Leave a Comment

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े

बैंकिंग और वित्त से जुडी ताज़ा जानकारी अपने मोबाइल में पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े