आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए?

क्या आप जानना चाहते है की आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए? तो आप बिल्कुल ठीक जगह पर आए है। आज हम इस विषय पर विस्तार से बात करने जा रहे है।

पहली बार आईटीआर भरने से पहले किसी भी व्यक्ति का यही सवाल होता है की आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए? अगर आप पहली बार आईटीआर भरने जा रहे है और आपको नहीं पता है की आईटीआर भरने से पहले किस किस दस्तावेजों की जरुरत होती है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

इस आर्टिकल में आपको बताया जाएगा की आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए? इसके साथ इन दस्तावेजों की आपको जरूरत क्यों होती है।

आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए?

आयकर रिटर्न भरने के लिए आपको नीचे दिए गए निम्नलिख्ति दस्तावेज चाहिए। अगर आप अपना इनकम टैक्स भरने जा रहे है तो आपको इन दस्तावेजों को पहले से ही तैयार रखना चाहिए। जिससे आपको आईटीआर फाइल करते समय कोई भी दिक्कत का सामना न करना पड़े।

आधार कार्ड

आधार कार्ड आयकर फाइल करने के लिए बहुत आवश्यक है। यूआईडीएआई द्वारा आधार प्रत्येक भारतीय निवासी को जारी किया जाता है जिसमे भारत के निवासियों के बायोमेट्रिक और जनसांख्यिकीय विवरण शामिल होता हैं।

आयकर अधिनियम की धारा 139AA के अनुसार, किसी भी करदाता को अपना आयकर रिटर्न दाखिल करते समय अपने आधार कार्ड का विवरण देना अनिवार्य है। यदि करदाता के पास आधार कार्ड नहीं है लेकिन उसने आधार के लिए आवेदन किया हुआ है तो करदाता को आयकर भरते समय वीआईडी नंबर देना होगा। सबसे महत्वपूर्ण बात, आपका आधार और पैन आपस में लिंक होना चाहिए।

पैन कार्ड

पैन कार्ड आयकर रिटर्न भरने के लिए पहला और सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज है। पैन कार्ड सरकार द्वारा जारी किया जाता है। इसमें 10 अंको का अद्वितीय अल्फान्यूमेरिक कोड होता है। बिना पैन कार्ड के आप आईटीआर फाइल नहीं कर सकते है।

हालांकि सरकार द्वारा नवीनतम संशोधन के अनुसार करदाता आईटीआर फाइल करने के लिए अब पैन कार्ड के बजाय अपना आधार नंबर का उपयोग कर सकते हैं।

टीडीएस कटौती (TDS deduction) के लिए भी पैन आवश्यक है। इसके साथ आयकर वापसी के सीधे क्रेडिट के लिए आपके बैंक खाते से पैन जुड़ा होना चाहिए।

सैलरी स्लिप

अगर आप वेतनभोगी व्यक्ति हैं तो आयकर रिटर्न भरने के लिए आपके पास महीने के हिसाब से सैलरी स्लिप होना आवश्यक है। अगर आपको कंपनी सैलरी स्लिप देती है फिर तो ठीक है लेकिन अगर आपको सैलरी स्लिप नहीं मिलती है तो आप सैलरी स्लिप के लिए अपनी कंपनी से सम्पर्क कर सकते है।

फॉर्म-16

किसी भी वेतनभोगी व्यक्ति के लिए फॉर्म-16 सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। फॉर्म-16 की मदद से ही आयकर रिटर्न भरा जाता है। प्रत्येक कर्मचारी को फॉर्म-16 उसकी कंपनी के द्वारा दिया जाता है। इसमें कर्मचारी की सैलरी और सैलरी से काटने वाले टैक्स की पूरी जानकारी होती है।

अगर आपकी कंपनी आपको फॉर्म-16 नहीं देती है तो आपको अपनी कंपनी से संपर्क करना चाहिए। क्योंकि प्रत्येक कंपनी को अपने कर्मचारी को फॉर्म-16 देना अनिवार्य है।

फॉर्म 26AS

फॉर्म 26AS में आपके द्वारा चुकाए गए टैक्स और आपकी ओर से काटे गए टैक्स की पूरी जानकारी होती है। आयकर विभाग इसे अपनी वेबसाइट पर जारी करता है। इसे आप आयकर विभाग (https://www.incometax.gov.in) की वेबसाइट से अपना पैन नंबर डालकर डाउनलोड कर सकते है।

इसमें कटौतीकर्ता द्वारा आपकी ओर से काटे गए कर का विवरण, करदाता द्वारा जमा किए गए कर का विवरण और वित्तीय वर्ष में प्राप्त कर वापसी का विवरण होता है।

आईटीआर भरते समय आप फॉर्म 16 और फॉर्म 26AS की तुलना कर सकते है और देख सकते है की दोनों जगह कर कटौती (tax deduction) एक सामान है या नहीं। आईटीआर भरते समय फॉर्म 26AS महत्वपूर्ण होता है। यही से आप अपनी टीडीएस की पूरी जानकारी देख सकते है।

बैंक अकाउंट नंबर

आईटीआर फाइल करने के लिए आपको आयकर विभाग को अपने सभी खातों की जानकारी देना अनिवार्य है जैसे बैंक का नाम, खाते का प्रकार, खाता संख्या, आईएफएससी कोड आदि। बैंक अकाउंट से आयकर विभाग आपकी लेनदेन पर निगरानी रखता है।

इसके अलावा आपको अपने सभी बैंक खातों में से एक प्राइमरी अकाउंट सेलेक्ट करना होता है जिसमे आयकर विभाग आपका टीडीएस रिफंड जमा कर सके।

बैंक स्टेटमेंट

अगर आपने सेविंग अकाउंट पर ब्याज अर्जित किया है या एफडी पर ब्याज कमाया है तो आपको आयकर रिटर्न भरते समय बैंक स्टेटमेंट आयकर विभाग को अपनी बैंक स्टेटमेंट को दिखाना होगा।

निवेश दस्तावेज

अगर आपने किसी क्षेत्र में निवेश किया है तो आप उसकी रसीद लगा कर आयकर विभाग से टीडीएस ले सकते है। निवेश की रसीद यह हो सकती है जैसे जीवन बीमा भुगतान की रसीद, चिकित्सा बीमा की रसीद, एफडी रसीद, दान भुगतान रसीद, होम लोन चुकौती प्रमाण पत्र, शिक्षा ऋण चुकौती प्रमाण पत्र, ट्यूशन शुल्क भुगतान रसीद, म्यूचुअल फंड समेकित खाता विवरण आदि।

आयकर रिटर्न भरते समय टीडीएस क्लेम करना जरुरी है और इसके लिए आप ऊपर दिए गए दस्तावेजों का इस्तेमाल कर सकते है।

किराए से आय

अगर आप अपनी घर सम्पति से आय अर्जित करते है तो आयकर रिटर्न भरते समय आपको इसकी सूचना आयकर विभाग को देनी होगी।

मुझे उम्मीद है की यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी रहा होगा। और अब आप समझ गए होंगे की आयकर रिटर्न भरने के लिए क्या-क्या चाहिए? अगर अब भी आपका आयकर रिटर्न से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो आप हमे नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है

डीमैट अकाउंट क्या होता है

कौन सा बैंक कितना ब्याज देता है

एक्सिस डीमैट अकाउंट खोलें

Authored By Prabhat Sharma
Howdy Guys, I am Prabhat, A full time blogger. I am the founder of the Bank Madad.com. I love to share articles about Banking & Finance on the Internet.

Leave a Comment

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े

बैंकिंग और वित्त से जुडी ताज़ा जानकारी अपने मोबाइल में पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े