बैंकिंग

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको में ज्यादातर हिस्सा सरकार के पास होता है यह हिस्सेदारी 50 प्रतिशत से अधिक होती है इसीलिए इन बैंको के ऊपर सरकार का पूरा नियंत्रण होता है। इन बैंको को आमतौर से सरकारी बैंक भी कहा जाता है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको की लिस्ट आप निचे देख सकते है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अक्सर अपनी व्यवस्था के लिए ग्राहकों के निशाने पर रहे है लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक शुल्क भी कम से कम वसूलते है।

निजी क्षेत्र के बैंक

निजी क्षेत्र के बैंको में एक बड़ा हिस्सा शेयरहोल्डर के पास होता है इन बैंको में सरकार का कोई शेयर नहीं होता है इसीलिए इनका नियंत्रण भी सरकार के पास नहीं होता है। इन बैंको की कमान इनके बड़े बड़े शेयरहोल्डर के पास होती है इन बैंको की लिस्ट आप निचे देख सकते है। निजी क्षेत्र के बैंक सरकारी बैंको से अच्छी सुविधा देते है और अपने ग्राहकों का ख्याल रखते है लेकिन इन सब के बदले वह अधिक शुल्क भी वसूलते है।