किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

क्या आप जानना चाहते है की किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है? तो आप बिल्कुल ठीक जगह पर आए है। इस आर्टिकल में आपको बैंकों के विलय की सूची मिलेगी। जिससे आप समझ जाएंगे की किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

बैंको की बिगड़ती हालत को देखते हुए भारत सरकार लगातार बैंकों का विलय करती जा रही है। जहाँ एक तरफ बैंकों के विलय के फायदे है वही दूसरी तरफ बैंकों के विलय के नुकसान भी बहुत है। बैंकों के विलय से बैंकों के कर्मचारियों से लेकर खाताधारक पर बड़ा प्रभाव पड़ता है।

बैंकों के विलय से खाताधारक को यही चिंता रहती है की बैंक बंद होने से उस पर क्या प्रभाव पड़ेगा।  उसके बैंक अकाउंट का क्या होगा। अब चेकबुक और पासबुक काम करेगी या नहीं। या अब नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग कैसे इस्तेमाल करें।

इस आर्टिकल में आपको बताया जाएगा की किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है? और इसके साथ आपको इसमें बैंकों के विलय की सूची भी मिलेगी। तो इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पूरा पढ़े।

विलय का अर्थ क्या होता है?

जब दो या दो से अधिक बैंकों को मिलाकर एक कर दिया जाता है तो इसे बैंकों का विलय कहा जाता है। इसमें किसी छोटे बैंक को बड़े बैंक के अंदर मिला दिया जाता है। इससे छोटे बैंक की पहचान पूरी तरह खत्म होकर बड़े बैंक की पहचान बन जाती है।

बैंकों के विलय की सूची 2022

जिस तिथि में विलय हुआबैंक का नाम जिस बैंक में विलय हुआ
1 अप्रैल, 2020इलाहाबाद बैंकइंडियन बैंक
1 अप्रैल, 2020आंध्रा बैंकयूनियन बैंक ऑफ इंडिया
1 अप्रैल, 2020कारपोरेशन बैंकयूनियन बैंक ऑफ इंडिया
1 अप्रैल, 2020यूनाइटेड बैंकपंजाब नेशनल बैंक
1 अप्रैल, 2020ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स पंजाब नेशनल बैंक
1 अप्रैल, 2020सिंडिकेट बैंककेनरा बैंक
1 अप्रैल, 2019देना बैंकबैंक ऑफ बड़ौदा
1 अप्रैल, 2019विजया बैंकबैंक ऑफ बड़ौदा
31 मार्च 2017भारतीय महिला बैंकस्टेट बैंक ऑफ इंडिया
31 मार्च 2017स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एण्ड जयपुरस्टेट बैंक ऑफ इंडिया
31 मार्च 2017स्टेट बैंक ऑफ हैदराबादस्टेट बैंक ऑफ इंडिया
31 मार्च 2017स्टेट बैंक ऑफ मैसूरस्टेट बैंक ऑफ इंडिया
31 मार्च 2017स्टेट बैंक ऑफ पटियालास्टेट बैंक ऑफ इंडिया
31 मार्च 2017स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोरस्टेट बैंक ऑफ इंडिया

बैंकों के विलय के फायदे क्या है?

  • बैंकों के विलय से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की ऋण देने की क्षमता बढ़ जाती है और उनकी बैलेंसशीट भी पहले से मजबूत हो जाती है।
  • विलय के बाद बैंक के पास बड़े प्रोजेक्ट को लोन देने के लिए अधिक पैसा होगा। तो इससे देश का आर्थिक विकास होगा।
  • बैंकों के विलय से देश की अर्थव्यवस्था में वृद्धि होती है।
  • बैंकों के विलय से बैंक के खर्चे में कमी आती है क्योंकि इससे बैंक में पदों में कमी आती है।
  • बैंकों के विलय से बैंक का npa कम हो जाता है। एनपीए वह कर्ज होता है जो बैंक लोन के रूप में लोगो को देती है और लोग उस लोन को चुका नहीं पाते है।

बैंकों के विलय के नुकसान क्या है?

  • जब एक छोटे बैंक का किसी बड़े बैंक के साथ विलय हो जाता है तो उस छोटे बैंक में काम कर रहे अधिकांश कर्मचारी बेरोजगार हो जाते है तो बैंकों के विलय से बेरोजगारी बढ़ती है।
  • बैंकों के विलय के बाद जिन कर्मचारीओ को निकाला नहीं जाएगा। उनका अपने क्षेत्र से दूर तबादला हो जाता है।
  • बैंकों के विलय के बाद बैंक में काम कर रहे कर्मचारियों के प्रमोशन में भी रुकावट आती है।
  • बैंकों के विलय के बाद नौकरी के नए अवसर मिलना मुश्किल हो जाता है।
  • बैंकों के विलय से एक ही बैंक में खाताधारकों की संख्या बढ़ने से बैंक में काम कर रहे कर्मचारीओ पर काम का दबाब बढ़ जाता है।
  • बैंकों के विलय के बाद खाताधारकों में बैंक बंद होने जैसी भ्रांतियां पैदा हो जाती है।
  • बैंकों के विलय से खाताधारक बैंकिंग को ले कर भर्मित हो जाते है जैसे उनकी पासबुक और चेक बुक उन्हें बदलनी है या नहीं, या मोबाइल बैंकिंग और नेट बैंकिंग कैसे इस्तेमाल करें आदि।

FAQs

इलाहाबाद बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

इलाहाबाद बैंक का 1 अप्रैल, 2020 को इंडियन बैंक में विलय हो गया है। अब इलाहाबाद बैंक का नया नाम इंडियन बैंक है।

यूको बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

यूको बैंक का विलय किसी भी बैंक के साथ नहीं हुआ है।

बैंक ऑफ इंडिया का विलय किस बैंक में हुआ है?

बैंक ऑफ इंडिया का विलय अभी तक किसी भी बैंक के साथ नहीं हुआ है।

आंध्रा बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

आंध्रा बैंक का विलय 1 अप्रैल, 2020 को यूनियन बैंक के साथ हो गया है। अब आंध्रा बैंक का नया नाम यूनियन बैंक है।

सेंट्रल बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

सेंट्रल बैंक का अभी तक किसी भी अन्य बैंक के साथ विलय नहीं हुआ है।

इंडियन ओवरसीज बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

इंडियन ओवरसीज बैंक का विलय अभी तक किसी भी अन्य बैंक में नहीं हुआ है।

कारपोरेशन बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

कारपोरेशन बैंक का विलय 1 अप्रैल, 2020 को यूनियन बैंक के साथ हो गया है। अब कारपोरेशन बैंक का नया नाम यूनियन बैंक ऑफ इंडिया है।

सिंडिकेट बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है?

सिंडिकेट बैंक का विलय 1 अप्रैल, 2020 को केनरा बैंक में हुआ है। अब सिंडिकेट बैंक का नया नाम केनरा बैंक है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बताई गई जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी। और अब आप समझ गए होंगे की किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ है? इसके साथ हमारे द्वारा बताई गई बैंकों के विलय की सूची भी आपके लिए उपयोगी रही होगी। अगर अब भी आपका बैंकों के विलय से संबंधित कोई भी सवाल हो तो आप हमे निचे कमेंट करके पूछ सकते है।

यह भी पढ़े

भारत में कितने राष्ट्रीयकृत बैंक है

सेविंग अकाउंट क्या होता है

क्या बैंक में पैसा सुरक्षित है

सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं

सेविंग अकाउंट में कितना ब्याज मिलता है

Authored By Prabhat Sharma
Howdy Guys, I am Prabhat, A full time blogger. I am the founder of the Bank Madad.com. I love to share articles about Banking & Finance on the Internet.

Leave a Comment

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े

बैंकिंग और वित्त से जुडी ताज़ा जानकारी अपने मोबाइल में पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े