एक्सिस बैंक की जानकारी। एक्सिस बैंक का इतिहास क्या है?

क्या आप भी एक्सिस बैंक की जानकारी जानना चाहते है तो आप बिल्कुल ठीक आर्टिकल पर आए है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको एक्सिस बैंक का पूरा इतिहास पता चल जाएगा। इस आर्टिकल में आपको एक्सिस बैंक की सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी।

एक्सिस बैंक भारत का तीसरा सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का बैंक है। बैंक बड़े और मध्य-निगमों, एमएसएमई, कृषि और खुदरा व्यवसायों को कवर करने वाले ग्राहक खंडों को वित्तीय सेवाओं का संपूर्ण स्पेक्ट्रम प्रदान करता है।

इस आर्टिकल में आपको एक्सिस बैंक की जानकारी मिलेगी। इसके साथ आपको बताया जाएगा की एक्सिस बैंक का इतिहास क्या है? इसके साथ हम एक्सिस बैंक से सम्बंधित कुछ सवाल भी देखेंगे।

एक्सिस बैंक की जानकारी।

एक्सिस बैंक लिमिटेड एक भारतीय बैंकिंग और वित्तीय सेवा कंपनी है जिसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में है। एक्सिस बैंक की स्थापना 3 दिसंबर 1993 को यूटीआई बैंक के रूप में हुई थी। एक्सिस बैंक सन 1993 से 2007 तक यूटीआई बैंक अर्थात यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया के नाम से ही जाना जाता था।

एक्सिस बैंक ने अपना पहला पंजीकृत कार्यालय अहमदाबाद में और कॉर्पोरेट कार्यालय मुंबई में खोला था। 2 अप्रैल 1994 को अहमदाबाद में एक्सिस बैंक की पहली शाखा का उद्घाटन भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने किया था।

सन 1997 में यूटीआई बैंक ने एनएसडीएल (NSDL) के साथ डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट के रूप में कार्य करने के लिए लाइसेंस प्राप्त किया और सेबी के साथ ‘डिबेंचर होल्डर्स के ट्रस्टी’ के रूप में कार्य करने के लिए पंजीकरण के लिए आवेदन किया था।

यूटीआई ने 100 करोड़ रुपये का योगदान दिया था बाकी एलआईसी ने 7.5 करोड़ रुपये, जीआईसी और इसकी चार सहायक कंपनियों ने 1.5 करोड़ रुपये का योगदान दिया था।

31 जुलाई 1998 तक शहरी और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में यूटीआई बैंक की 28 शाखाएँ थी सभी शाखाएं पूरी तरह से कम्प्यूटरीकृत थी और वीसैट के माध्यम से नेटवर्क था इसके साथ एटीएम सेवाएं 27 शाखाओं में उपलब्ध थी।

सन 1999 में यूटीआई बैंक और सिटी बैंक ने एक अंतरराष्ट्रीय सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया था। यूटीआई बैंक और सिटी बैंक मास्टरकार्ड के तहत एक अंतरराष्ट्रीय सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने के लिए एक साथ आए थे।

साल 2000 में बैंक ने अपने डिपॉजिटरी ग्राहकों के लिए टेली-डिपॉजिटरी सेवाएं शुरू करने की घोषणा की थी। इसके बाद यूटीआई बैंक ने अपने इंटरनेट बैंकिंग उत्पाद ‘आईकनेक्ट’ को लॉन्च किया।

इसके बाद यूटीआई बैंक और ऑनलाइन ट्रेडिंग सेवाएं शुरू करने वाली पहली कंपनी जियोजित सिक्योरिटीज लिमिटेड ने एक साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। ताकि निवेशक कंपनी की वेबसाइट के माध्यम से डीमैट शेयरों को खरीद सकें। इसके बाद इंडियाबुल्स ने यूटीआई बैंक के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

साल 2001 में यूटीआई बैंक ग्लोबल ट्रस्ट बैंक के साथ विलय करने के लिए सहमत हो गया था लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक ने मंजूरी रोक दी और विलय नहीं हुआ। इसके बाद साल 2004 में, भारतीय रिजर्व बैंक ने ग्लोबल ट्रस्ट को स्थगन के तहत रखा और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के साथ इसके विलय की निगरानी की।

साल 2003 में मुंबई मंडल के पश्चिमी रेलवे स्टेशनों पर 16 एटीएम शुरू करने के लिए यूटीआई को अधिकृत किया गया। इसके साथ यूटीआई बैंक ने सिक्किम में नए एटीएम का खुलासा किया।

साल 2004 में यूटीआई बैंक ने उडुपी में नई शाखा खोली।

साल 2005 में यूटीआई बैंक को लंदन स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था। साल 2006 में यूटीआई बैंक ने सिंगापुर में अपनी पहली विदेशी शाखा खोली। और उसी वर्ष यूटीआई बैंक ने शंघाई, चीन में एक कार्यालय खोला। इसके बाद साल 2007 में, यूटीआई बैंक ने दुबई इंटरनेशनल फाइनेंशियल सेंटर में एक शाखा खोली और हांगकांग में भी शाखाएँ खोलीं।

इसके बाद 30 जुलाई 2007 को यूटीआई बैंक ने अपना नाम बदलकर एक्सिस बैंक कर लिया। साल 2009 में, शिखा शर्मा को एक्सिस बैंक के एमडी और सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया था। साल 2013 में, एक्सिस बैंक की सहायक कंपनी, एक्सिस बैंक यूके ने बैंकिंग परिचालन शुरू किया।

इसके बाद साल 2008 में एक्सिस बैंक ने भारत का पहला ईएमवी चिप (EMV Chip) आधारित कार्ड प्लेटिनम क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया।

इसके बाद 1 जनवरी 2019 को, अमिताभ चौधरी ने एमडी और सीईओ के रूप में पदभार संभाला। इसके बाद साल 2021 में एक्सिस बैंक ने यस बैंक में अपनी हिस्सेदारी 2.39 फीसदी से घटाकर 1.96 फीसदी कर दी थी।

12 अगस्त 2016 तक, एक्सिस बैंक के पास 4,096 शाखाओं और विस्तार काउंटरों और 12,922 एटीएम का नेटवर्क था। एक्सिस बैंक का भारत में निजी बैंकों में सबसे बड़ा एटीएम नेटवर्क है। एक्सिस बैंक सिक्किम के थेगू में समुद्र तल से 13,200 फीट की ऊंचाई पर दुनिया के सबसे ऊंचे स्थलों में से एक एटीएम भी संचालित करता है।

31 मार्च 2021 तक एक्सिस बैंक की भारत में 4,594 घरेलू शाखाएं, 5,710 कैश रिसाइकलर और 11,333 एटीएम थे। 31 मार्च 2021 तक बैंक के 6 वर्चुअल सेंटर हैं और 1500 से अधिक वर्चुअल रिलेशनशिप मैनेजर हैं।

FAQs

एक्सिस बैंक का पूरा नाम क्या है?

एक्सिस बैंक का पूरा नाम एक्सिस बैंक ही है।

एक्सिस बैंक का पुराना नाम क्या है?

एक्सिस बैंक का पुराना नाम यूटीआई अर्थात “यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया” है।

एक्सिस बैंक की स्थापना कब हुई थी?

एक्सिस बैंक की स्थापना 3 दिसंबर 1993 को हुई थी।

एक्सिस बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

एक्सिस बैंक एक प्राइवेट है।

एक्सिस बैंक का इतिहास क्या है?

अगर आप एक्सिस बैंक का इतिहास जानना चाहते है तो आप ऊपर आर्टिकल में पढ़ सकते है।

एक्सिस बैंक का मालिक कौन है?

एक्सिस बैंक के मालिक “आदित्य पूरी” है।

एक्सिस बैंक का सीईओ कौन है?

वर्तमान में एक्सिस बैंक के सीईओ “अमिताभ चौधरी” है?

एक्सिस बैंक का मुख्यालय कहाँ है?

एक्सिस बैंक का मुख्यालय मुंबई में है।

मुझे उम्मीद है की ऊपर आर्टिकल में दी गई एक्सिस बैंक की जानकारी और एक्सिस बैंक का इतिहास आपको अच्छा लगा होगा। अब आप एक्सिस बैंक के बारे में पहले से अधिक जानते है। अगर फिर भी आपका एक्सिस बैंक के इतिहास और एक्सिस बैंक की जानकारी से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो आप हमे नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

यह भी पढ़े

एक्सिस बैंक बैलेंस चेक नंबर

एक्सिस बैंक मिनी स्टेटमेंट नंबर

एक्सिस बैंक मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन करें

एक्सिस बैंक एटीएम ब्लॉक कैसे करें

एक्सिस बैंक एटीएम पिन जनरेट करें

एक्सिस बैंक नेट बैंकिंग रजिस्ट्रेशन करें

एक्सिस बैंक मोबाइल बैंकिंग रजिस्ट्रेशन कैसे करें

एक्सिस बैंक अकाउंट दूसरी ब्रांच में ट्रांसफर करें

Consolidated charges meaning in hindi

Axis Bank Asha Home Loan in Hindi

एक्सिस बैंक पर्सनल लोन कैसे ले

एक्सिस बैंक चेक बुक अप्लाई करें

Authored By Prabhat Sharma
Howdy Guys, I am Prabhat, A full time blogger. I am the founder of the Bank Madad.com. I love to share articles about Banking & Finance on the Internet.

Leave a Comment

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े

बैंकिंग और वित्त से जुडी ताज़ा जानकारी अपने मोबाइल में पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े